Taliban Afganistaan

  Taliban Kahan se aaya 




 हेल्लो दोस्तो कैसे है आप लोग

आज हम बात करेंगे Taliban के बारे में , हम इसके इतिहास को जानेंगे, Taliban के कुछ नियम कायदे जानेंगे और Taliban शुरू क्यु हुआ, Taliban आया कहा से हम इनके उपर कुछ बातें जानने का प्रयास करेंगे। 


जैसा कि आज आप Afganistaan में हालात देख ही रहे होंगे, आपने अब तक जान ही लिया होगा कि Taliban ने Afganistaan पर हमला कर Taliban के कब्जे में ले लिया है। Taliban कि यह कोशिश कई महिनो अथवा सालों से चलती आ रही है जिस दिन भारत आजादी का जश्न मना रहा था उस दिन Afganistaan Taliban का गुलाम बन चुका था, Afganistaan के सभी मंत्री भाग खड़े हुए, और भारत के आजादी के din ही Taliban ने Afganistaan पर अपना पुरणतया कब्जा करने का दावा करके आजादी का जश्न मना रहा था।

Taliban है क्या 

Taliban Afganistaan के ही कुछ लोगो द्वारा बनाया गया एक संगठन है,इसकी पूरी फंडिंग पाकिस्तान से आती हैं। पाकिस्तान Taliban कि पूरी मदद करता है क्युकी जैसे चोर चोर भाई होते है वैसे ही आतंकवादी आतंकवादी भाई होते हैं। Taliban एक सक्रिय आतंकवादी संगठन है। जो इस्लाम के झूठे बातों को लोगो पर थोपना चाहता है लोगो से उनकी आजादी छीनना चाहता है और लोगो को अपना गुलाम बना कर रखना चाहता है। 

Taliban के क्या  नियम है

Taliban के बहुत से अपने नियम कानून है ,जिसे यह आज के  Afganistaan के  लोगो पर थोपना चाहता है

1. Taliban के मुताबिक कोई महिला अपने घर से कभी अकेले बाहर नही निकलेगी,Taliban के नियम के मुताबिक महिला के साथ जरूर कोई होना चाहिए । 

यह Taliban के नजरो में ईस्लाम के खिलाफ है 

2. Taliban के नियम कानून के अनुसार महिला बिना बुर्खे के अपने घर से बाहर कदम तक नही रख सकती यह Taliban के नजरो में ईस्लाम के खिलाफ है ,इसके लिए Taliban ने खुद से दण्ड देने का प्रावधान भी है।

3. Taliban के मुताबिक कोई भी लड़की अगर बालिक हो चुकी हो अथवा वह 12 साल की उम्र सीमा पार कर चुकी हो तो उसका निकाह Taliban के आतंकवादी जबर्दस्ती करवा देंगे चाहे वह Taliban के आतंकी से ही क्यूँ ना करवाये। सीधा अर्थ है 12 साल कि लड़की होते ही आप खुद निकाह पढ़वा दे वर्ना Taliban के आतंकी अपने साथ ले जायेंगे। 

4. Taliban के नियमानुसार किसी भी इंसान के घर में TV नही होना चाहिए ये उनके ईस्लाम के खिकाफ है Taliban के खिलाफ है ऐसा कहना Taliban का है । 

5. आप वहां Taliban के नियम कायदे का पालन करेंगे तभी आप जीवित रह सकते हैं अन्यथा आपको अपनी जान भी गवानी पड़ सकती हैं। Taliban के नियम से वहां के बच्चे हो या बड़े कोई भी पतंग नही उड़ा सकता वर्ना उसे कड़ी से कड़ी सजा दी जा सकती हैं।

ऐसे ही और कई घटिया व काले कानून Taliban के किताब में है।

अब आप सोचीये कि क्या आप वहाँ अपना जीवन यापन कर सकते है क्या आप चाहेंगे ऐसे घटिया कानून कही भी लागु हो,अब ऐसा करने वालो को आप  आतंकवादी नही कहेंगे तो क्या कहेंगे। लोगो की आजादी Taliban के हाथ में Taliban जैसा चाहेगा आपको वैसा जीवन व्यतीत करना पड़ेगा।

Taliban कि शुरुआत 

History of Taliban

Starting Of Taliban

Taliban पूर्वी और दक्षिणी अफगानिस्तान के पश्तून क्षेत्रों से धार्मिक छात्रों का एक आंदोलन है, जो पाकिस्तान में मदरसे मे, इस्लामी स्कूलों में शिक्षित थे। इनके मुताबिक Afagaanistan में ईस्लाम के नियम कायदो का पालन नही किया जा रहा था। यही से Taliban संघठन कि शुरुआत हुई, यही से Taliban कि नीब रखी गई।

 Mullah Mohammad Omar ने सितंबर 1994 में अपने गाँव के घर, मतलब अपने निवास से, कंधार में 50 छात्रों के साथ Taliban संघठन की स्थापना की। Mullah Mohammad Omar 1992 से मैवंड (उत्तरी कंधार प्रांत) के संग-ए-हिसार मदरसे में पढ़ रहा था।  

वह इस बात  कतई खुश नही था से कि कम्युनिस्ट शासन को हटाने के बाद अफगानिस्तान में इस्लामी कानून स्थापित नहीं किया गया, जो इस्लाम का नियम वह लागु नही किया गया जबकि ऐसा कुछ नही था पर Mullah Mohammad Omar को यह मंजूर नही था और अब उस ने अपने समूह के साथ अफगानिस्तान को सरदारों और हिंदुओ से मुक्त करने का संकल्प लिया।

 Mullah Mohammad Omar ने उसी दिन तय किया कि वह एक दिन पूरे Afganistaan में अपना सरिया कानून,इस्लामी कानून स्थापित करेगा और फिर Mullah Mohammad Omar ने अपने आतंकी संगठन Taliban कि स्थापना की।

1-2 महीनों के अंदर ही, 15,000 छात्र Mullah Mohammad Omar के आतंकी संगठन में शामिल हो गये , अक्सर अफगान शरणार्थी, धार्मिक स्कूलों या मदरसों से  Mullah Mohammad Omar के Taliban के संगठन  में जुड़ते गए । 

एक स्रोत उन्हें जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम द्वारा संचालित मदरसे कहते हैं  इसके सारे जमाती पाकिस्तान के समूह में शामिल हो गए।

Taliban के आका

Learder Of Taliban

Mullah Mohammed Omar {Founder 1994–2013}

Abdul Ghani Baradar (co-founder)

Akhtar Mansour  (2015–2016)

Hibatullah Akhundzada (2016–present)

Dates of  Taliban operation

1994–1996 (militia)

इस समय Taliban ने  Militia पर हमला करके उसपर अपना कब्जा जमाया और यहां Taliban ने  2 साल शासन किया बाद में यह छुड़ा लिया गया। 

1996–2001 (Taliban 1st government ) - Taliban सरकार की यह पहली सरकार थी Taliban ने 1996-2001 तक पूरे afganistaan पर राज किया था। उस समय भी Taliban के सारे नियम कानून उनके हिसाब से चलते थे। 

2002–2021- इस पूरे समय में Taliban ने अपने संगठन को बड़ा करने का काम किया और आज आप देख सकते है कि Taliban ने Afganistaan पर वापस कब्जा कर लिया है। 

Group of Taliban

Primarily Pashtuns

Taliban Headquarters

Kandahar, Afghanistan (1994–2001)

Post a Comment

0 Comments

close